भरतपुर : जीवन में अध्यात्मिकता की जरुरत है

0
143

भरतपुर :  अंतराष्ट्रीय महिला दिवस सप्ताह समापन के अंतर्गत जिला प्रशासन महिला अधिकारिता विभाग भरतपुर के संयुक्त तत्वाधान में यूआईटी ऑडिटोरियम भरतपुर में कार्यक्रम आयोजित हुआ कार्यक्रम में मुख्य रूप से ब्रह्माकुमारीज को आमंत्रित किया कार्यक्रम के मुख्य अतिथि भ्राता सांवरमल वर्मा संभागीय आयुक्त, भरतपुर संभाग रहे, राजयोगिनी ब्रह्माकुमारी कविता दीदी, डॉ जिज्ञासा सहानी मुख्य चिकित्सा अधीक्षक, डॉ मधु शर्मा, प्राचार्य आर. डी. गर्ल्स. कॉलेज भरतपुर, श्रीमती अनीता ट्रेफिक पुलिस अधिकारी  सीओ भरतपुर  , ट्रेफिक पुलिस, भरतपुर,डॉ.राजेश्वरी मीणा MSJ कॉलेज भरतपुर, श्रीमती अर्चना पिप्पल, उपनिदेशक महिला एवं बालविकास विभाग परियोजना अधिकारी भरतपुर, श्रीमती श्रद्धा पचौरी, महिला थाना प्रभारी, भरतपुर,ब्र. कु. प्रवीणा बहिन आदि उपस्थित रहे l  मुख्य उद्बोधन देते हुए राजयोगिनी ब्र. कु. कविता दीदी ने नारी को समाज की रीढ़ की हड्डी बताते हुए कहा की आज की नारी भले वो, डॉक्टर, इंजिनियर, प्रशासनिक अधिकारी तो पैदा कर सकती है पर संस्कारों का सशक्तिकरण आंतरिक रूप से नहीं हो पा रहा है उसके लिए जीवन में अध्यात्मिकता की जरुरत है lकार्यक्रम की शुरुआत माँ सरस्वती के समक्ष सभी अतिथियों के द्वारा दीप प्रज्जवलन कर किया गया l   भ्राता राजेश कुमार,उपनिदेशक महिला अधिकारिता के द्वारा सभी अतिथियों का शब्दों के द्वारा स्वागत किया गया l      कार्यक्रम के मध्य में विभिन्न क्षेत्रों में उत्कृष्ट कार्य करने वाली महिलाओं को आदरणीय राजयोगिनी कविता दीदी एवं भ्राता सांवरमल वर्मा संभागीय आयुक्त भरतपुर के द्वारा पारितोषिक वितरण मोमेंटो एवं सर्टिफिकिट देकर सम्मानित किया गया 

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें