दिल्ली : डेरावाल नगर में स्वस्थ एवं खुशनुमा परिवार के लिए ‘मां’ की भूमिका विषय पर सार्वजनिक कार्यक्रम का आयोजन हुआ

0
210

दिल्ली-डेरावाल नगर:  मातृ दिवस के अवसर पर ज्ञान विज्ञान भवन, ब्रह्माकुमारीज मार्ग, डेरावाल नगर में बहुत सुंदर सार्वजनिक कार्यक्रम का आयोजन हुआ। खचाखच भरे सभागार में ‘मां’ की परिवार में भूमिका पर अपने मुख्य वक्तव्य में विश्व गिनीज बुक रिकॉर्ड धारी डा. अदितिसिंघल ने कहा कि ‘मां’ की विशेषताएं, परिवार पर आशीर्वाद तथा त्याग का प्रतीक होती है। मां की व्याख्या करते हुए कहा कि ‘मां’ पहली गुरु, निस्वार्थ सेवा करने वाली, विश्वसनीय मित्र, ईमानदार परामर्शदाता, सशक्त करने वाली साथी और सम्पूर्ण सुंदरता का विकास करने वाली है।’मां’ प्यार और अनुशासन का संतुलन रखना सिखाती है।’मां’ के अंदर स्वीकार करने का गुण आध्यात्मिकता से आता है। हर बात में ‘ना’ नहीं बोलना है लेकिन ‘हां’ भी नहीं, जिससे बच्चे के अंदर जिद्द का संस्कार नहीं आता है। सकारात्मक वाइब्रेशन से बच्चों में सकारात्मक परिवर्तन संभव है। 

ब्रह्माकुमारीलता ने राजयोग के अभ्यास के द्वारा सभी उपस्थित भाई बहनों को शांति की अनुभूति कराई। 

अपने आशीर्वचन में डेरावाल नगर सेवा केंद्र की संचालिका, राजयोगिनीरानीदीदी ने कहा कि जीवन में धन, पदार्थ तथा संबंधों के साथ साथ उच्च नैतिक मूल्यों को अपनाने से परिवार स्वस्थ एवं खुशनुमा होगा। उन्होंने शिक्षा के साथ-साथ भावनात्मक विकास के लिए आध्यात्मिकता को अपनाने पर प्रकाश डाला।

 बहनों द्वारा ‘आई लव यू जिंदगी’ पर नृत्य, प्रसिद्धगायकरविभाई का सुंदर गीत, छोटी सी कुमारीहिया का ‘मां’ के लिए गीत, पार्थ का कविता पाठ तथा कुमारों द्वारा ‘मां’ की महिमा पर सुंदर कव्वाली, गगनदीपभाई का भांगड़ा कार्यक्रम का आकर्षण का केंद्र रहा। बहन साधना ने कार्यक्रम में कुशल मंच संचालन किया।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें