अम्बिकापुर: विश्व भवन चोपड़ापारा में हमर खून बचाही जिंदगी अभियान के अन्तर्गत रक्तदान शिविर का आयोजन किया गया

0
101

अम्बिकापुर,छत्तीसगढ़:  प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय नव विश्व भवन चोपड़ापारा अम्बिकापुर में हमर खून बचाही जिंदगी अभियान के अन्तर्गत रक्तदान शिविर का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि शासकीय मेडिकल कॉलेज अंबिकापुर अधिष्ठाता रामनरेश मूर्ति जी, समस्त ब्लड बैंक स्टॉफ एवं सरगुजा संभाग की सेवाकेन्द्र संचालिका ब्रह्माकुमारी विद्या दीदी ने रक्तदान महादान शिविर का शुभ उद्घाटन द्वीप प्रज्जवलित कर किया गया।

इस शुभ अवसर पर सरगुजा संभाग की सेवाकेन्द्र संचालिका ब्रह्माकुमारी विद्या दीदी ने कहा कि रक्त दान, जीवन दान है, यह बहुत बड़ी सेवा है, क्योंकि रक्त दान करने से किसी पीड़ित व्यक्ति का जीवन बचाया जाता है। यह बहुत ही खुशी की बात है यहां संभाग मुख्यालय होने के कारण  पूरे संभाग से पीड़ित लोग आते हैं, कैंसर आदि बीमारियों से ग्रसित होते है। जिनको ब्लड की अति आवश्यकता पड़ती है, उस कमी को पूरा करने के लिये ब्रह्माकुमारीज़ संस्थान की ओर से रक्त दान कार्यक्रम का आयोजन किया गया। आगे उन्होंने कहा कि समाजिक संस्थायें, कॉलेजों में रक्त दान का कार्यक्रम करना चाहिये ताकि जिन्हें ब्लड की आवश्यकता पड़ती है उसे ब्लड देकर उनकी जान समय बचाया जा सके।

इस अवसर पर शासकीय मेडिकल कॉलेज अंबिकापुर अधिष्ठाता रामनरेश मूर्ति जी ब्रह्माकुमारीज़ संस्थान का सराहना करते हुये कहा कि मैं जब भी ब्रह्माकुमारी बहनों के सम्पर्क में आता हूँ तो स्वयं का आध्यात्मिक रूप से सफल, सक्षम और नव चेतना का संचार से परिपूर्ण महसूस करता हूँ। ब्रह्माकुमारी संस्था नव चेतना का ध्वजवाहक है। देश-विदेश  में अपने ज्ञान प्रज्ञा और शांति से मानव जीवन का कल्याण करने के लिये आध्यात्मिक चेतना को जगाने का पुनीत कार्य करती है। वहीं सामाजिक आयोजनों में भी बढ़- चढकर हिस्सा लेती है। आगे उन्होने कहा कि रक्त दान बहुत ही अनुपम अनोखा दान है। लोग तो दान कई तरह से करते है, किन्तु उन सभी दान में सबसे बड़ा दान रक्त दान होता है क्योंकि इससे शारीरिक रूप से जो लोग असक्षम होते है, जिन्हें खून की आवश्यकता होती है, उन्हें खून देकर उनका जीवन बचाया जाता है। रक्त देने से डरना नहीं चाहिये हर तीन- चार महीने रक्त दिया जा सकता है, रक्त देने से शरीर के अन्दर का रक्त का संचार होता है।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें