मुख पृष्ठलेखपत्ता गोभी को करें डाइट में शामिल और रहें स्वस्थ

पत्ता गोभी को करें डाइट में शामिल और रहें स्वस्थ

आज हम पत्ता गोभी या बंद गोभी के खाने के बारे में बताएंगे। यह लगभग सभी घरों में बनाई जाने वाली सब्जी है। पत्ता गोभी लाल व हरे रंग की ज्य़ादा देखने को मिलती है। पत्ता गोभी से सब्जी, सलाद, चाऊमीन, सूप आदि पौष्टिक व्यंजन बनाए जाते हैं।
सर्दी के मौसम में पत्ता गोभी की आवक ज्य़ादा रहती है। इसमें कैलोरी और सल्फर नामक मिनरल्स पाए जाते हैं।
ब्रोकली, स्प्राउट, फूल गोभी, पत्ता गोभी यह सभी सब्जियां एक ही परिवार की सदस्य हैं। आज हम आपको पत्ता गोभी के फायदे व नुकसानों के बारे में बतायेंगे…

पत्ता गोभी में पाए जाने वाले पोषक तत्व
पत्ता गोभी में पोटैशियम, आयरन, विटामिन के, विटामिन बी 1, विटामिन बी 6, विटामिन सी, विटामिन ई, बीटा कैरोटीन, सल्फर, क्लोरीन, मैग्नीज़, फास्फोरस, जि़ंक, कैल्शियम, फाइबर, फोलेट और कार्बोहाइड्रेट आदि पोषक तत्व पाए जाते हैं।

पत्ता गोभी खाने के फायदे

  • बालों के लिए फायदा
    पत्ता गोभी को सलाद या सब्जी के तौर पर भी खा सकते हैं। जिससे बालों की समस्या तुरंत समाप्त होती है। जैसे ही बालों का झडऩा, रूसी की समस्या, दो मुंहे बाल आदि समस्याओं में पत्ता गोभी बहुत गुणकारी है। पत्ता गोभी का पेस्ट बनाने के लिए सबसे पहले पत्ता गोभी को बारीक काट कर अच्छे से पीस लें फिर इसमें मुल्तानी मिट्टी मिक्स कर लें। फिर बालों पर लगाएं। इसका प्रयोग आप हफ्ते में कम से
    कम 2 बार ज़रूर करें। ऐसा करने से कुछ ही दिनों में बालों में फर्क दिखाई देने लगेगा।
  • हड्डियों को मजबूत बनाए
    पत्ता गोभी में दूध के जैसा कैल्शियम होता है, जो हड्डियों को मजबूत बनाने में सहायक है। हड्डियों में दर्द होने पर पत्ता गोभी के रस में गाजर का रस बराबर मात्रा में मिलाकर पिएं। ऐसा करने से हड्डियों का दर्द ठीक हो जाता है।
  • रोग प्रतिरोधक क्षमता को करे मजबूत
    पत्ता गोभी में विटामिन सी भरपूर मात्रा में पाया जाता है। इस वजह से हमारी रोग प्रतिरोधक क्षमता मजबूत रहती है। ये हमें कई प्रकार के संक्रमण से भी बचाती है इसके अलावा इसमें एंटी ऑक्सीडेंट और प्रतिरक्षा तंत्र को मजबूत करने वाले पोषक तत्व पाए जाते हैं। जिस प्रकार से हमारा शरीर कई प्रकार के रोगों से लडऩे की क्षमता रखता है।
  • वजन को कम करे पत्ता गोभी
    पत्ता गोभी खाने से वजन को कम किया जा सकता है। आप पत्ता गोभी का रस या फिर जूस बनाकर पी सकते हैं। पत्ता गोभी शरीर को ऊर्जा प्रदान करती है और इसके साथ मोटापा को भी कम करती है क्योंकि पत्ता गोभी में कैलोरी बहुत कम मात्रा में पाई जाती है।
  • त्वचा के लिए लाभदायक
    पत्ता गोभी त्वचा के लिए बहुत गुणकारी मानी जाती है। और ये त्वचा पर निखार लाती है। यह फेस पर होने वाले पिंपल्स, दाग-धब्बे, झाइयां आदि समस्याओं को दूर करती है। पत्ता गोभी में एंटीऑक्सीडेंट भरपूर मात्रा में पाया जाता है। इसके साथ ही पत्ता गोभी उम्र के प्रभाव को भी कम करती है।
  • आँखों को बनाए स्वस्थ
    पत्ता गोभी का अगर नियमित मात्रा में सेवन किया जाए तो बॉडी में बिटा कैरोटिन का लेवल बढ़ जाता है, जिससे आँखें स्वस्थ और साफ रहती हैं। पत्ता गोभी में विटामिन ई भरपूर मात्रा में पाया जाता है जो आँखों की समस्या दूर करने में हमारी मदद करता है। जिसे बढ़ती उम्र में होने वाले मोतियाबिंद का खतरा नहीं होता। पत्ता गोभी में पाए जाने वाला बीटा कैरोटिन आँखों की रोशनी तेज करता है।
  • पेप्टिक अल्सर से बचाए
    पत्ता गोभी यानी बंद गोभी में ग्लूटामाइन नामक तत्व हमें पेप्टिक अल्सर जैसी बीमारी से बचाता है। जो पेट में अल्सर या गैस्ट्रिक अल्सर को नहीं होने देता। इसलिए पत्ता गोभी को अपने भोजन में ज़रूर शामिल करें।
  • कब्ज से राहत
    पत्ता गोभी एक रेशेदार सब्जी है। इसमें फाइबर और ग्लूकोसाइनोलेट्स भरपूर मात्रा में होने के कारण शरीर में पानी की मात्रा बनाए रखता है। इसमें मौजूद फाइबर मल को त्यागने में काफी मदद करता है। और कब्ज से राहत मिलती है। इसके अलावा पत्ता गोभी में एंथोसायनिन तत्व पाया जाता है। जो पाचन क्रिया को ठीक बनाए रखता है।

पत्ता गोभी खाने के नुकसान
पत्ता गोभी खाने में जितनी फायदेमंद होती है उतनी ही है हमारी सेहत के लिए हानिकारक होती है। क्योंकि किसी भी चीज़ की अति कभी भी अच्छी नहीं होती, चाहे वो कितनी भी फायदेमंद क्यों न हो। तो आज हम आपको पत्ता गोभी के नुकसानों के बारे में भी बताएंगे…

  • पत्ता गोभी खाने से शरीर में आयोडिन की कमी और थायराइड की समस्या भी हो सकती है।
  • जिन लोगों को पत्ता गोभी खाने से एलर्जी होती है,वे पत्ता गोभी का सेवन न करें।
  • पत्ता गोभी खाने से पेट फूलना और गैस की परेशानी भी उत्पन्न हो सकती है।
  • पत्ता गोभी में पाए जाने वाला कार्बोहाइड्रेट पाचन क्रिया के द्वारा टूट नहीं पाता जिसके कारण पेट में दर्द, अपच और एसिडिटी की समस्या हो सकती है।
  • जो लोग इरिटेबल बाउल सिंड्रोम जैसी पाचन की बीमारी से ग्रस्त हैं तो उन लोगों को पत्ता गोभी का सेवन नहीं करना चाहिए।

RELATED ARTICLES

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular

Recent Comments