मन की बातें

0
353

प्रश्न : मैं तसनीम नागपुर से हूँ। मैं 26साल की मैरिड वुमेन हूँ। मैं रात को सो नहीं पाती हूँ और जब सोने की कोशिश करती हूँ तो मन में कई प्रकार के विचार आने शुरु हो जाते हैं। क्या करें?
उत्तर : ब्रेन को तो रेस्ट चाहिए ही। ब्रेन भी तो एक मशीन जैसे ही है ना! अगर मशीन को 24 घंटे चलाते रहो तो वो गर्म हो जायेगा, तार जल जायेगा। कुछ भी नुकसान हो जायेगा। इसलिए रेस्ट ब्रेेन को बहुत आवश्यक है। बॉडी के सभी अंग जो निस दिन एक्टिव हैं उन्हें भी रेस्ट देना परम आवश्यक है। इसलिए आपके सब्कॉन्शियस माइंड में वो भर गया है कि नींद के बिना भी काम चल सकता है। तो सब्कॉन्शियस माइंड आपको सोने नहीं दे रहा है। तो अब आप इस संकल्प को डिलीट करें। कैसे करेंगे? सोने के वक्त जब आप सोने जायें तो तब संकल्प करेंगे कि मुझे 6 घंटे नींद की बहुत आवश्यकता है। मुझे अपने ब्रेन को रिएनर्जेटिक करने के लिए 6 घंटे नींद की ज़रूरत है। अब मैं गहरी नींद सो जाऊंगी। कुछ दिन ये करेंगी तो आपका सब्कॉन्शियस माइंड इसे स्वीकार कर लेगा और पिछला जो अन्दर भर गया था वो डिलीट हो जायेगा। ये आपको ज्य़ादा से ज्य़ादा 21दिन तक करना होगा। और हमारे यहाँ बहुत सारी सीडीज़ बनी हुई हैं वो अच्छे से सुन लें और सुनते-सुनते आप सोने लगें। तो गुड थॉट जो आपके माइंड को मिलेंगे उससे जो कोई निगेटिव थॉट आता होगा वो समाप्त हो जायेगा। और अगर सुनने की मार्जिन नहीं है, कोई चीज़ नहीं मिली तो हमारे यहाँ ईश्वरीय महावाक्यों की कुछ किताबें बनी हुई हैं या आपकी जो मन पसंद किताबें हैं जिनसे आपका चिंतन बहुत पॉजि़टिव हो जाये उनको थोड़ी भी देर पढ़ेंगी तो चिंतन होते-होते आपको नींद आ जायेगी। तीसरी चीज़ जो हम सिखाते हैं कि अगर और कुछ न हो तो शांति में बैठकर 108 बार लिख लें कि मैं एक महान आत्मा हूँ, मैं महान हूँ, मैंने अनेक जन्म देवकुल में लिए हैं, मैं महान हूँ। इसे स्वीकार करके लिखना प्रारम्भ करें। तो लिखते-लिखते ही नींद आने लगेगी। पाँच-सात दिन के बाद ऐसा लगेगा कि लिखते-लिखते ही नींद आ गई। इससे क्या होता है मैं एक महान आत्मा हूँ ये स्वमान है हमारा, तो आत्मा से गुड एनर्जी ब्रेन को जायेगी और वो ब्रेन को पूरी तरह से रिलेक्स कर देगी और नींद आ जायेगी।

प्रश्न : मेरा नाम नीरज अग्रवाल है। मैं फार्मेसी कॉलेज में एसिसटेंट प्रोफेसर हूँ। मैं ब्रह्माकुमारीज़ के ज्ञान को भी फॉलो करता हूँ। मुझे ढेर सारे सपने आते हैं जब मैं सोता हूँ। मेरा मन सुबह-सुबह बहुत उत्तेजित हो जाता है। मैं सुबह अमृतवेला करने के लिए जल्दी उठने की कोशिश करता हूँ, लेकिन नींद कम्पलीट न होने की वजह से मैं मेडिटेशन के लिए नहीं बैठ पाता हूँ। कृपया बतायें क्या करूँ?
उत्तर : कभी-कभी ऐसा होता है कि किसी स्थान पर, किसी कमरे में बैड एनर्जी बहुत होती है। मान लो कुछ गलत काम हो गया वहाँ पर, किसी ने सुसाइड कर लिया, कुछ गंदे काम वहाँ हो गये हैं। या लोग वहाँ बैठकर सट्टा खेलते थे तो वहाँ निगेटिव एनर्जी, निगेटिव वायब्रेशन्स फैले रहते हैं। तो ऐसी जगह पर भी मनुष्य को नींद नहीं आती। दो तरीके हैं या तो आप रूम चेंज कर लें या फिर वहाँ कुछ धूप, अगरबत्ती जलायें, वहाँ का वातावरण वैरीफाय हो। और एक विशेष मैं मास्टर ज्ञान सूर्य हूँ स्वमान के साथ विशेष मेडिटेशन करें। आधा घंटा सुबह और आधा घंटा शाम को ताकि वहाँ की बैड एनर्जी समाप्त हो जाये। और फिर वही चीज़ रोज़ रात को सोने से पहले अपने सब्कॉन्शियस माइड में भरें। पाँच बार संकल्प करेंगे कि आज मुझे गहरी नींद आयेगी। आज मुझे स्वप्न रहित गहरी नींद आयेगी। आज मैं अपनी गहरी नींद को बहुत एन्जॉय करूंगा। ऐसे करते-करते सो जायें। और फिर सब्कॉन्शियस माइंड इसे एक्सेप्ट करेगा। फिर दूसरी विधि आप ये भी अपना सकते हैं कि कोई अच्छी क्लास जो आपको प्रिय हो, ईश्वरीय महावाक्यों की भी सीडी है, कोई भी क्लास है, योग की कॉमेंट्री है उसको चला दें और फिर चलते-चलते आपके विचार उसी तरह के होते रहेंगे। और कोई भी जो व्यर्थ संकल्प होगा वो समाप्त हो जायेगा। क्योंकि जिसको नींद नहीं आती उसको यही संकल्प काफी भारी हो जाता है कि नींद नहीं आ रही, नींद नहीं आ रही। फिर कुछ और संकल्प भी आ सकते हैं। आगे-पीछे की याद आने लगेगी। तो कोई क्लास या कॉमेंट्री सुनने से बहुत अच्छा होगा। और तीसरी चीज़ मैं एक महान आत्मा हूँ, इसे 108 बार लिखें। चौथी चीज़ भी मैं सजेस्ट करूँगा। सोने से पहले थोड़े ठण्डे पानी से नहा लिया जाये ताकि बॉडी कूल हो जाये। और एक बात मुझे याद आ रही है अगर आपके पास कोई हो या सभी हमारे जो दर्शक हैं वो भी इस बात को जान लें कि उल्टा लेट जायें और रीड की हड्डी के दोनों ओर किसी से धीरे-धीरे दबवा लें। ऊपर से नीचे दबा लें, तो रिलेक्स हो जायेंगे। दोनों तरफ ही पूरा तंत्र है ना! वो कहीं न कहीं स्ट्रेन(दबाव, चिंता) उसमें आ जाता है। टैंशन जैसी हो जाती है। उसको पाँच-सात, दस बार दबा लें। इससे जब रिलेक्स हो जायेंगे तो नींद भी जल्दी आयेगी।

प्रश्न : मेरा नाम सुबाराव है। ठीक जैसे ही दस बजते हैं वैसे ही मेरी नींद उड़ जाती है। फिर एक बजे जाता है, दो बज जाते हैं तो लाख कोशिश करने के बाद भी मुझे नींद नहीं आती। मैंने बहुत सारे लिटरेचर भी पढ़े हुए हैं, मैं इस विद्यालय से भी जुड़ा हुआ हूँ। लेकिन मैं अपनी इस समस्या से बहुत परेशान हूँ। इससे मेरा सुबह बहुत प्रभावित होता है। कृपया बतायें क्या करूँ?
उत्तर : ये आपके ब्रेन की स्थिति बन गई है ऐसी कि जैसे ही वो सोने जायेंगे सब्कॉन्शियस माइंड फुली एक्टिव और वो आपको सोने नहीं देगा। कुछ भी विचार आपको आने लगेंगे। कुछ चीज़ याद आने लगेगी पहले आपको नींद आती होगी और जैसे ही वो टाइम होता है तो आप बिल्कुल फ्रेश हो जाते हैं। तो तेल भी बहुत अच्छे अच्छे मार्केट में मिलते हैं। नवरत् न तेल है। एक छोटी सी विधि मैं बताता हूँ तेल कोई भी जो सिर पर लगाये उसको एक हरी शिशी में रखकर सूरज की कीरणों में रखें आठ से दस घंटे। एक हफ्ते तक रख लें तो ये तेल एक बहुत अच्छी मेडिसिन बन जायेगा कि इसको लगा लेंगे तो बहुत गहरी नींद आने लगेगी। कोई भी तेल हो। जो आप यूज़ करते हो। स्पिरिचुअल प्रैक्टिस के साथ स्पाइन को थोड़ा रिलेक्स करने की बात आप करा लें। इसके और भी कारण हो सकते हैं न कि पूर्व जन्मों का कर्म है। केाई बैड एनर्जी आपके पीछे लगी हो, किसी की आपने बहुत नींद फिटाई हो। उनकी बैड एनर्जी आपके पीछे लगी हो जो आपको सोने नहीं देती। कर्मों की गति ये भी कहती है कि आपने किसी की नींद फिटा दी हो और आपको उनसे बद्दुआएं मिल गई हों कि जैसे हम नींद का सुख नही ले पा रहे वैसे ही आप भी नींद का सुख नहीं ले पाओगे। ऐसे ही पिछले जन्मों के पाप कर्म ज्य़ादा हो गये हों और वो आपको सोने नहीं देते हों, एक्टिव हो गये हों तो आपको उनसे क्षमा-याचना करनी चाहिए। और दिन में एक घंटा स्पैशल योग करना चाहिए। कि जो पास्ट के विकर्म एक्टिवेट हो गये हैं वो नष्ट हो जायें। और बाकी जो हमने विधि बताई वो करनी चाहिए। क्षमा याचना आपको बहुत बल देगी। और अपने चित्त को शांत रखने की
भी कोशिश करनी चाहिए। बाकी तो जब हम किसी से मिलते हैं और डिटेल में बात होती है तब पता चलता है कि और कोई बीज तो नहीं है जिसके कारण आपकी नींद खत्म होती है। मतलब इसके कई कारण हो सकते हैं। ऐसा नहीं है कि राजयोग का अभ्यास करना शुरू किया और तत्काल नींद आना शुरू हो जाये। उसको शायद शैटल डाउन होने में भी बहुत वक्त लग सकता है। लेकिन अगर लगातार अभ्यास और पुरुषार्थ करते रहें तो निश्चित रूप से आपको अच्छी नींद आयेगी।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें